...Back

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का शुभारंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा तीन बराबर किस्तों में प्रतिवर्ष ₹6000 की धनराशि किसानों के खाते में हस्तांतरित की जाती है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार करने के उद्देश्य से आरंभ की गई है । वे सभी किसान जिनके पास 2 हेक्टेयर से कम खेती योग्य जमीन उपलब्ध है उनको पीएम किसान योजना का लाभ प्रदान किया जाता है। आपको इस लेख के माध्यम से इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की जाएगी। आप इस लेख को पढ़कर इस योजना के अंतर्गत पात्रता से लेकर आवेदन तक की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। तो आइए जानते हैं कैसे पीएम किसान स्कीम के अंतर्गत आवेदन करें एवं इस योजना का लाभ प्राप्त करें।

इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा दी जाने वाली कुल धनराशि 6000 रूपये डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर मोड के माध्यम से 2000 रूपये की तीन किश्तों में लाभार्थियों के Bank Account में स्थानांतरित की जा रही है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 12 करोड़ छोटे तथा सीमांत किसानो को शामिल किया जायेगा । इस योजना के तहत लगने वाली कुल लागत 75 ,000 करोड़ रूपये है । प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना  के ज़रिये  2.25 करोड़ लाभार्थी किसानो को 31 मार्च 2019 को Direct Bank Transfer (DBT) के माध्यम से पहली किश्त मिल भी चुकी है ।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का उद्देश्य

भारत एक कृषि प्रधान देश है भारत देश में 75 %लोग खेती करते है देश के सभी किसान आर्थिक रूप से खेती पर निर्भर रहते है इसी बात को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने खेती करने वाले किसानो को आर्थिक सहायता पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना 2022 को आरंभ किया है । इस योजना के ज़रिये खेती करने वाले किसानो को बेहतर आजीविका प्रदान करना तथा किसानो को आत्म निर्भर बनाना तथा सशक्त बनाना ।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में हुए बदलाव

  • आधार कार्ड अनिवार्य:- दोस्तों यदि आप प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठाना चाहते है तो आपके पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है। यदि आपके पास आधार कार्ड नहीं है तो आप इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते।
  • जोत की सीमा खत्म:- जब प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का आरंभ किया गया था तब इस योजना में केवल उन्हीं किसानों को शामिल किया गया था जिनके पास 2 हेक्टेयर या फिर 5 एकड़ खेती योग्य जमीन है। अब केंद्र सरकार द्वारा यह सीमा खत्म कर दी गई है।
  • स्टेटस जानने की सुविधा:- अब आप प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अपने आवेदन का स्टेटस खुद जान सकते हैं। इसके लिए आपको केवल आधार नंबर या मोबाइल नंबर या एकाउंट नंबर होना चाहिए। जिसकी मदद से आप अपना आवेदन स्टेटस चेक कर सकते हैं।
  • खुद रजिस्ट्रेशन करने की सुविधा:- जब प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का आरंभ किया गया था तो इस योजना में पंजीकरण करवाने के लिए लेखपाल, कानूनगो और कृषि अधिकारियों के चक्कर लगाने पड़ते थे। लेकिन अब सरकार ने यह बाध्यता खत्म कर दी है। अब कोई भी किसान अपना पंजीकरण घर बैठे खुद करा सकता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड:- वे सभी किसान जो प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवाया है उन्हें किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए कोई दस्तावेज देने की आवश्यकता नहीं है। जिससे किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने में आसानी होगी। किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से किसानों की आर्थिक स्थिति में भी सुधार आएगा।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के दस्तावेज़

  • आवेदक के पास 2 हेक्टेयर तक किसी जमीन होनी चाहिए।
  • कृषि भूमि के कागज़ात होने चाहिए ।
  • आधार कार्ड 
  • पहचान पत्र
  • आई डी प्रूफ, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी
  • बैंक खाता पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पते का सबूत
  • खेत की जानकारी (खेत का आकार,कितनी जमीन है )
  • पासपोर्ट साइज फोटो

किसान सम्मान निधि योजना आवेदन प्रक्रिया को किया गया सरल

किसान सम्मान निधि योजना का लाभ देश के सभी पात्र किसानों को प्रदान किया जाता है। जिसके लिए सरकार द्वारा पात्रता की कुछ शर्ते तय की गई हैं। यदि आप इन पात्रता की शर्तों को पूरा करते हैं तो आप भी किसान सम्मान निधि योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवाना होगा। इसके पश्चात आपका नाम लाभार्थी सूची में शामिल किया जाएगा। जिसके बाद आपके खाते में पैसे ट्रांसफर किए जाएंगे। अब तक सरकार द्वारा किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत 7 किस्तों की राशि किसानों के खाते में पहुंचा दी गई है। आठवीं की राशि पहुंचाने की तैयारी की जा रही है।

  • अब किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए लाभार्थियों को लेखपाल, कनूनगो तथा कृषि अधिकारियों के चक्कर लगाने की आवश्यकता नहीं है। अब लाभार्थी घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।
  • लेकिन अगर लाभार्थी चाहे तो वह लेखपाल, कानूनगो और कृषि अधिकारी के माध्यम से भी आवेदन करवा सकते हैं। पिछले वर्ष किसान सम्मान निधि योजना के नियमों में भी बदलाव किए गए थे जिससे कि इस योजना को ज्यादा से ज्यादा किसानों तक पहुंचाया जा सके।

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं पीएम किसान योजना के लाभार्थियों की मृत्यु होने के पश्चात उनके उत्तराअधिकारियों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाता था। अब सरकार द्वारा इस प्रक्रिया में बदलाव कर दिए गए हैं। इस योजना के लाभार्थियों के उत्तराअधिकारियों को मृत्यु के पश्चात योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए उत्तराअधिकारियों को आवेदन करना होगा। आवेदन के पश्चात यदि वह सभी शर्तों पर खरे उतरते हैं तो उनको इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। किसान की मृत्यु के पश्चात उत्तरॉअधिकारी को एक प्रार्थना पत्र जमा करना होगा। यह प्रार्थना पत्र प्राप्त होने के पश्चात उत्तराअधिकारी की पात्रता का परीक्षण किया जाएगा। यदि उत्तराअधिकारी योजना का लाभ प्राप्त करने का पात्र है तभी उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

  • उत्तराधिकारी के मामले में नामांतरण के लिए वारिस को राजस्व निरीक्षक की रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी। इस रिपोर्ट का मामला विवादग्रस्त नहीं होना चाहिए। इसके अलावा उत्तराअधिकारी की खतौनी में अभिलेख भी होने चाहिए।
  • उनके कार्यक्षेत्र का विवरण कृषि विभाग के अधिकारी द्वारा निर्धारित किया जाएगा। इसके अलावा उत्तराअधिकारी को मृतक लाभार्थी की सूचना देने के साथ यह भी जानकारी प्रदान करनी होगी कि वह क्यों इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहता है।
  • इसके अलावा मृतक लाभार्थी का जिला स्तर पर ही स्टॉप पेमेंट संबंधित उप निर्देशक कार्यालय द्वारा किया जाएगा एवं उस प्रकरण का विवरण साक्ष्य सहित निर्देशआले में भेजा जाएगा।

 

 

Contact Us